पार्टनर से झगडे में क्या बात नहीं बोलनी चाहिए ?

लाइफ पार्टनर में अक्सर मामूली लड़ाई झगड़ा होता रहता हैं और कभी कभी जाने अनजाने में कुछ

अनचाही बात मुँह से निकल जाती हैं जिससे छोटी सी लड़ाई भी बहुत गलत रूप ले लेती हैं। कभी कभी यह छोटी छोटी बात इतना विकराल रूप ले लेती हैं की नौबत रिश्ते ख़तम होने तक की आ जाती हैं। इसलिए आपको अपने लाइफ पार्टनर और प्यार से कुछ बातें कभी भी नहीं बोलनी चाहिए।

चिल्लाना
अक्सर लड़ाई में हम अपने पार्टनर पर चिल्ला देते हैं और ऊँची आवाज में बहस करते हैं। लड़ाई में अक्सर चिल्लाना गंभीर रूप लेलेता हैं। और ऊँची आवाज आपके रिश्ते को भी ख़राब कर सकती हैं इसलिए जहा तक हो आपको बहस के दौरान कभी भी अपने पार्टनर पर चिल्लाना नहीं चाहिए।

पुरानी बातों को बीच में लाना
जब भी कभी आपस में बहस होती हैं तो हम अक्सर पुरानी बातो को बीच में ले आते हैं और अपने पार्टनर को दुःख पहुंचते हैं। लकिन आपको यह समझना चाहिए की लड़ाई में की गई पुरानी बाते अक्सर याद रहती हैं और पारिवारिक कलह का कारन बनती हैं। इसलिए जितना भी हो सके हमेशा पुरानी बातों को बीच में लाने से बचना चाहिए।

आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाना
कुछ लोग खुद को ज्यादा स्ट्रांग मानते है और अपनी पत्नी पर हाथ तक उठा देते हैं और ऐसा करना निहायती ही गन्दा होता हैं क्यूंकि अपने जीवन साथी पर उठाकर आप न सिर्फ उसके शरीर को ठेस पहुंचते हैं बल्कि उसके आत्मसमान को भी बहुत अधिक ठेस पहुंचते हैं। इसलिए आपको कभी भी जाने अनजाने में अपनी लाइफ पार्टनर के साथ मारपीट नहीं करनी चाहिए। क्यूंकि चाहे वो आपका प्यार हो या लाइफ पार्टनर आत्मसमान सबके लिए बहुत जरुरी होता हैं और आपको हमेशा दूसरे के आत्मसमान की मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए और भूलकर भी अपने पार्टनर के आत्मसमान को ठेस नहीं पहुंचनी चाहिए।

समाधान
अगर आपकी अपने लाइफ पार्टनर से किसी बात पर बहस हो जाये तो बात के बढ़ने से पहले ही तुरंत माफ़ी मांग ले चाहे आपकी कोई गलती न भी हो। क्यूंकि अपने लाइफ पार्टनर को दुःख पहुँचाना किसी भी तरह से सही नहीं हैं। इससे आपके पार्टनर का गुस्सा शांत हो जायेगा। और आप आराम से बात करके उस मसले को निपटा सकते हैं।

Please follow and like us:

Related posts

Leave a Comment