परीक्षा में अच्छे नंबर के लिए अपने खाने का भी ध्यान रखे

आपने देखा होगा कि आमतौर पर बच्चे खूब सही तरीके से पढ़ाई करते हैं लकिन उनके परीक्षा परिणाम काफी ख़राब आते हैं। इसकी वजह यह हैं की पढ़ाई के दौरान इतना व्यस्त हो जाते हैं कि

उनको अपनी सेहत का भी ध्यान नहीं रहता और ढंग से खाना नहीं खा पाते। जिसकी वजह से खूब तैयारी करने के बाद भी उनको परीक्षा के दौरान सही से जवाब नहीं दिए जाते। और उनका परिणाम काफी गलत आता हैं। इसलिए यह हर माता पिता की जिम्मेदारी बनती हैं कि वो अपने बच्चे के सेहत का ध्यान रखे ताकि उसकी पढ़ाई पर कोई असर न पड़े.

खाने का हिसाब किताब
डॉक्टर्स के अनुसार परीक्षा के दौरान बच्चो के ऊपर काफी मानसिक तनाव होता हैं क्यूंकि हर बच्चा परीक्षा में टॉप करना चाहता हैं और इसलिए बच्चे परीक्षा की तैयारी में अपने खाने पीने का भी ध्यान नहीं रखते हैं। ऐसे माता पिता को अपने बच्चो की पढ़ाई का ध्यान रखना चाहिए और इसके लिए उनको उनको उनके खाने के समय का हिसाब किताब भी बनाना चाहिए ताकि उनके बच्चे को पढ़ाई के साथ साथ अच्छा खाना भी मिले।

बच्चो का सुबह का खाना
आपको अपने बच्चों को सुबह के खाने में यानि की ब्रेकफास्ट में ओट्स, दलिया, पोहा, अंडे और कॉर्नफ्लेक्स जैसा पोस्टिक खाना देना चाहिए। और कभी भी बच्चो को दूध देना न भूले और अगर हो सके तो बच्चो को सुबह के खाने में फल और सलाद भी दे।

दोपहर का खाना
बच्चे अक्सर अपना दोपहर का खाना यानी की लंच नहीं खाते। इसलिए हमेशा इस बात का ध्यान रखे की आपके बच्चे अपना दोपहर का खाना जरूर करे। इसलिए अपने बच्चे को दोपहर के खाने में रोटी, सब्जी, दाल, चावल और सलाद दें. जिससे बच्चे को बीच-बीच में भूख का एहसास न हो और वह अपनी पढ़ाई पर फोकस कर सके, लेकिन आपको हमेशा इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की आपका बच्चा खाना खाने के तुरंत बाद पढ़ने न बैठे। क्यूंकि बच्चो के स्कूल में भी ऐसा ही होता हैं। बच्चा खाना खाने खाने के बाद कुछ देर खेलता हैं उसके बाद वापस अपनी पढ़ाई करने जाता हैं। क्यूंकि इससे बच्चो का खाना पच जाता है और उनको एसिडिटी का खतरा नहीं रखता।

पिछला लेख खाना खाने के तुरंत बाद क्या नहीं करना चाहिए ?

शाम का खाना
जैसा की आपको मालूम हैं की लंच और डिनर बीच काफी समय होता है, और इस दौरान बच्चे अक्सर भूखा मससूस करते हैं इसलिए अपने बच्चे को हमेशा कुछ खाने के लिए अवश्य दे इससे बच्चे को अपनी पढ़ाई से होने वाली थकन से आराम मिल जाता हैं। इसलिए बच्चो को शाम को हमेशा कुछ खाने के लिए दे जैसे टोस्ट, बिस्किट्स, स्प्राउट्स और व्हीट ब्राउन ब्रेड।

रात का खाना
अपने बच्चे को रात के खाने में हमेशा हल्का खाना दे लकिन इस बात का ध्यान भी रखे की आपका खाना ज्यादा चिकनाई और मसालेदार न हो। क्यूंकि ज्यादा चिकनाई और मसालेदार खाना खाने से जलन और एसिडिटी भी हो सकती हैं। अपने बच्चे को सोने से कम से कम 2 घंटे पहले खाना दें और खाने के तुरंत बाद बच्चे को पढ़ने न दें, बल्कि थोड़ा टहलने दे अथवा खेलने भी दे। उसके बाद ही उसको पढ़ने के लिए बैठने दें. और हमेशा कोशिश करे की आपका बचा ज्यादा रात तक न पढ़ाई करे और समय से सो जाये। क्यूंकि रात में पढ़ाई करने से आँखों पर भी असर पड़ता है और बच्चो को कम से कम 7 घंटे सोना भी जरुरी होता हैं।

इन सभी बातों का ध्यान रखकर आपका बच्चा अपनी परीक्षा में न सिर्फ अच्छे नंबर लाएगा बल्कि उसका सवस्थ भी अच्छा रहेगा

Please follow and like us:

Related posts

Leave a Comment