जामुन खाने के क्या फायदे हैं

जामुन गर्मियों का सबसे पसंदीदा फल हैं और बच्चे हो या बड़े सभी लोग जामुन को बड़े चाव से कहते हैं। जामुन खाने के अनेक फायदे भी हैं। आईये हम आपको बताते हैं की जामुन खाने के क्या फायदे हैं।

जामुन गर्मियों का सबसे पसंदीदा फल हैं और बच्चे हो या बड़े सभी लोग जामुन को बड़े चाव से कहते हैं। जामुन खाने के अनेक फायदे भी हैं। आईये हम आपको बताते हैं की जामुन खाने के क्या फायदे हैं।

एनीमिया की कमी दूर करना
जामुन खाने का एक सबसे बड़ा फायदा हैं की यह एनीमिया की कमी को दूर करता हैं। जामुन हमारे शरीर की रोग प्रितिरोधक क्षमता को बढ़ाता हैं।

लीवर की समस्या को दूर
जामुन खाने का दूसरा फायदा हैं इसका लिवर की समस्या को दूर करना. अगर किसी व्यक्ति को लिवर की समस्या हैं तो उसको रोज जामुन के रस का सेवन करना चाहिए। यहाँ तक की अब आप बाबा रामदेव के स्टोर से भी जामुन का रस खरीद सकते हैं।

पेट की समस्या में राहत
जामुन की छाल का काढ़ा पीने से पेट की सभी समस्याओ का समाधान हो जाता हैं।

त्वचा में निखार
जामुन त्वचा में निखार लाने में बहुत लाभकारी होता हैं और अगर आपके शरीर पर सफ़ेद निशान हैं तो जामुन का पेस्ट बनाकर सफ़ेद दाग पर लगाने से वो धीरे धीरे हलके पढ़कर ख़तम हो जाते हैं। और जामुन खाने से खाने से चेहरे की रंगत बढ़ती है

डायबिटीज में तो जामुन खाने की सलाह भी दी जाती है. इसका नियमित सेवन बहुत फायदेमंद होता है. जामुन खून में मौजूद शक्कर की मात्रा को नियंत्रण करता हैं रोगी बिना किसी परेशानी के खा सकते हैं। जामुन रक्त में शक्कर की मात्रा को नियंत्रित करता है, जामुन के मौसम में इसके नियमित सेवन से डायबटीज के मरीज को फायदा होता है। इससे मधुमेह के मरीज को होने वाली समस्याएं जैसे बार-बार प्यास लगना और बार-बार पेशाब होना आदि में भी लाभ मिलता है। इसलिए आप प्रतिदिन 200 ग्राम जामुन का सेवन करें। जामुन की गुठली ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में बहुत अच्छी मानी जाती है। 100 ग्राम जामुन की गुठली लेकर इसे अच्छी तरह पीसकर कर पाउडर बनालें। रोज सुबह-शाम 3 ग्राम गुठली पाउडर का सेवन करें। इससे आपका मधुमेह जड़ से खत्म हो जाएगा।

जामुन की गुठली में थोड़ा सा नमक मिलाकर इसके चूर्ण को दांतों पर मलने से दांतों के दर्द की शिकायत दूर होती है.

जामुन की गुठली के चूर्ण को पानी के साथ मिक्स कर पेस्ट बनाकर घाव पर लगाने से बहुत राहत मिलती है.

  • जिस प्रकार जामुन खाने के अनेक फायदे हैं उसी प्रकार इसका अधिक सेवन नुकसानदायक भी है।
  • दूध पिलाने वाली महिलाओं को जामुन नहीं खाने चाहिए।
  • खाली पेट जामुन नहीं खाना चाहिए
  • जामुन खाने के तुरंत बाद कभी भी दूध नहीं पीना चाहिए।
  • ज़्यादा मात्रा में जामुन खाने से दर्द और बुखार हो सकता हैं।
  • बहुत अधिक जामुन फेफड़ो के लिए नुकसानदायक होता हैं
  • बहुत अधिक मात्रा में जामुन खाने से खाँसी हो जाती है
Please follow and like us:

Related posts

Leave a Comment